असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती निकालने में रुचि नहीं ले रहा आयोग, 4500 पद खाली

असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती निकालने में रुचि नहीं ले रहा आयोग, 4500 पद खाली

 प्रयागराज : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ युवाओं को रोजगार देने की कवायद तेज करने का निर्देश दे चुके हैं। उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग सहित कुछ भर्ती संस्थान उसके अनुरूप काम कर रहे हैं। लेकिन, उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग का काम अपेक्षा से काफी सुस्त है। आयोग को 2016 पदों का असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती का अधियाचन मिले 20 दिन से अधिक हो गए। लेकिन, अभी तक भर्ती का विज्ञापन नहीं निकला। वहीं, प्रतियोगी भर्ती निकलने की आस में बैठे हैं।


उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग को अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में उच्च शिक्षा निदेशालय ने 44 विषयों में 2016 पद का अधियाचन भेजा है। इसके पहले निदेशालय ने 12 अगस्त को 1303 पदों का अधियाचन आयोग को भेजा था। लेकिन, क्षैतिज आरक्षण की स्थिति स्पष्ट न होने से भर्ती शुरू नहीं हो पायी। शासन से आरक्षण की स्थिति स्पष्ट करने पर निदेशालय ने पदों की संख्या बढ़ाकर पुन: अधियाचन आयोग को भेजा गया है। आयोग विज्ञापन संख्या 50 के तहत भर्ती करानी है। कुछ दिन पहले विज्ञापन के लिए एजेंसी तय करने की प्रक्रिया शुरू हुई थी।

आयोग की सचिव डॉ. वंदना त्रिपाठी का कहना है कि 29 अक्टूबर को प्रस्तावित प्राचार्य पद की लिखित परीक्षा होने के बाद असिस्टेंट प्रोफेसर पद का विज्ञापन निकाल दिया जाएगा। 2016 में निकली थी भर्ती : उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग ने एडेड डिग्री कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसर पद की भर्ती का विज्ञापन वर्ष 2016 में निकाला था। विज्ञापन संख्या 47 के तहत 35 विषयों में 1150 पदों पर भर्ती की गई। वर्तमान समय एडेड डिग्री कालेजों में विभिन्न विषयों में करीब 4500 पद खाली हैं।