प्री-प्राइमरी स्कूल: दसवीं पास आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां ही पढ़ा सकेंगी, कमेटी की जाएगी गठित

प्री-प्राइमरी स्कूल: दसवीं पास आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां ही पढ़ा सकेंगी, कमेटी की जाएगी गठित

 आंगनबाड़ी में प्री प्राइमरी की पढ़ाई के लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्त्रियों का प्रशिक्षण जल्द शुरू होगा। 20-20 के समूह में प्रशिक्षण दिया जाएगा। दसवीं पास कार्यकरत्री को ही प्रशिक्षण के लिए. चुना जाएगा। इसके लिए 6 करोड़ रुपए की धनराशि जारी करदी गई है। 16.35 लाख लोगों को प्रशिक्षण दिया जाना है। आंगनबाड़ी में प्री प्राइमरी कक्षाओं की पढ़ाई शुरू होनी है। इसके लिए ब्लॉक स्तर पर 4 रिसोर्स पर्सन चुने जाने हैं। इनमें 2 मुख्य सेविका और 1-1 आंगनबाड़ी कार्यकत्री और एक एआरपी होंगे। इसमें वही कायकर्त्री चुनी जाएंगी जो दसवीं पास हों और स्मार्टफोन का इस्तेमाल करना जानती हों, विभाग के कार्यक्रमों में सक्रिय रहती हों। जिन कार्यकर्त्रियों ने विभागीय प्रशिक्षण प्राप्त किए हों या फिर प्रशिक्षण दिया हो,उन्हें वरीयता दी जाएगी। 20-20 लोगों के समूह में प्रशिक्षण दिया जाएगा।


कमेटी गठित की जाएगी 
प्रशिक्षण में केन्द्र की साज सज्जा से लेकर पढ़ाने के तरीके तक पर जोर दिया जाएगा। इसके लिए मॉड्यूल एससीईआरडटी ने तैयार किए हैं। प्रशिक्षण में भाव कौशल और कहानी वाचन पर जोर दिया जाएगा। कहानी के माध्यम से अभिव्यक्ति सिखाई जाएगी।