अभिभावकों को दीक्षा एप के लिए प्रेरित करेंगे बेसिक शिक्षक, डाउनलोड कराने का मिला टारगेट

अभिभावकों को दीक्षा एप के लिए प्रेरित करेंगे बेसिक शिक्षक, डाउनलोड कराने का मिला टारगेट

  गोरखपुर: दीक्षा एप को बढ़ावा देने व अधिक से अधिक प्रयोग को लेकर परिषदीय विद्यालयों के शिक्षक छात्रों व अभिभावकों को प्रेरित करेंगे। प्रत्येक शिक्षक अपने विद्यालय से जुड़े या आसपास के दस छात्रों-अभिभावकों को दीक्षा एप डाउनलोड करा इसके उपयोग के लिए तैयार करेंगे। ऐसे छात्रों-अभिभावकों को दीक्षा एप के प्रयोग की विधियों से अवगत कराएंगे।

शासन का मानना है कि लगभग 1.80 करोड़ परिषदीय विद्यालयों एवं निजी विद्यालयों के लगभग दो करोड़ छात्रों के सापेक्ष महज तीस से चालीस फीसद छात्रों-अभिभावकों द्वारा दीक्षा एप का प्रयोग किया जा रहा है। विभाग ने दीक्षा पोर्टल पर दैनिक एक करोड़ कंटेंट प्ले का लक्ष्य रखा है। बीएसए बीएन सिंह ने बताया कि सभी खंड शिक्षाधिकारियों से अपने-अपने ब्लाकों के शिक्षकों से कम से कम दस छात्रों-अभिभावकों को दीक्षा एप डाउनलोड कराने व उसका उपयोग करने के लिए प्रेरित करने के निर्देश दे दिए गए हैं।

छात्र-छात्रओं के लिए उपयोगी है दीक्षा एप: दीक्षा एप छात्र-छात्रओं के लिए काफी उपयोगी है। इसके जरिये छात्र सभी कक्षाओं एवं विषयों के इच्छित टापिक से संबंधित डिजिटल कंटेंट सर्च कर सकते हैं। इसका निश्शुल्क उपभोग कर ज्ञानार्जन किया जा सकता है।

पंद्रह दिसंबर तक देनी होगी रिपोर्ट: शिक्षकों ने जिन दस छात्रों व अभिभावकों को दीक्षा एप डाउनलोड कराया है उसका विवरण बीईओ कार्यालय में जमा करेंगे। खंड शिक्षाधिकारी एकत्र सूचना को एक्सल शीट में भरते हुए राज्य स्तर पर पंद्रह दिसंबर तक ई-मेल द्वारा प्रेषित करेंगे।